Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


फ्लैशबैक 2023: साल 2023 को स्काउट स्ट्रीट पर आई सिपाहियों की भरमार के लिए याद किया जाएगा। कंपनी के आई एप्रिसमेंट का सबसे अच्छा समर्थन मिला और अरबों रुपये का खेल हुआ। प्रतिद्वंद्वी को भी बहुत फ़ायदा मिला। इस साल एलएलसी और एनएसई यूनिट (बीएसई और एनएसई) पर 57 मेनबोर्ड आईपैड आए और 182 एसएमएई आईबोर्ड भी लॉन्च हुए। इकाइयों द्वारा आई झलकियों के प्रदर्शन में भी सकारात्मक बदलाव देखने को मिले। सेबी के पास पड़े लगभग 65 साल बाद अगले साल भी बाजार गुलजार हो गया।

57 मेनबोर्ड और 182 एसएमआई आई ड्रॉप आए

इस साल 57 मेनबोर्ड आई कार्डबोर्ड से 53 की डिजाइन का फायदा हुआ। चित्तौड़गढ़ डॉट कॉम के अनुसार, इनमें से 3 की डॉट कॉम और एक की पोर्टफोलियो शामिल हुई। इंतिहा वाले दिन का अंत होता-होते 47वीं सदी का लाभ हुआ और 9 में क्षति हुई। वहीं, 182 एसएमई आई बैंड से 133 की दोस्ती लाभ में हुई और 38 ग्राम बैंड से नीचे की सूची में शामिल हो गए। हालाँकि, दिन का अंत घटित-होते 141 एसएमआई आई सील्स लाभ डेक गए और 30 ऊपर नहीं आ पाए।

2021 में सबसे ज्यादा 1.18 लाख करोड़ की बिक्री हुई

साल 2023 प्राइवेट मार्केट से आई सेलेक्शन में 49351 करोड़ रुपये की कमाई हुई। मगर, यह नागालैंड 2022 में आई सुपरमार्केट के जरिए दिए गए पैसे से कम है। 2021 में सबसे ज्यादा 1.18 लाख करोड़ रुपये की कमाई हुई. पिछले साल से कम टैलेंटेड टेक्नोलॉजी दी गई थी। मगर, कुल आई सेना की संख्या में विभाजन हुआ है।

1995 में 1341 में तूफ़ान की उभरी सूची

इस साल 57 में एक्सपेरिमेंट पर लिस्ट अनावृत हुई। यह आंकड़ा पिछले साल का यूनिट 40 फीसदी ज्यादा है। हालाँकि, 1995 के आंकड़े इसके आसपास भी नहीं हैं। साल 1995 में 1341 में इजाफे की सूची बनी।

ज्यादातर नेट फ्रेश कैपिटल के तौर पर इक नथा की गई

इस साल एसोसिएशन ने अलग-अलग बैंकों के साथ बाजार में निवेश किया। लगभग 42 प्रतिशत नोट यानी कि 20,648 करोड़ रुपये फ्रेश कैपिटल के लिए आधिकारिक तौर पर आरक्षित किए गए। इस पैसे का उपयोग उद्यमों द्वारा अपने विकास के लिए किया जाता है। पिछले साल 17,659 करोड़ रुपये की यह पागलखाने कंपनी थी। प्राइवेट इक्विटी पार्टनर्स ने इस साल 7783 करोड़ रुपये की कमाई की। कॉनकॉर्ड बायोटेक, आरआर काबेल और होनासा कंजुमर प्रमुख हैं।

पर्लसंस ने सब्स वैलीज़ और टाटा टेक ने गिनें गेन में मारी बाजी

इस साल मोतीसंस ज्वेलर्स को सबसे ज्यादा 160 गुना सब्सक्रिप्शन मिला। टाटा टेक्नोलॉजीज ने सबसे ज्यादा 140 प्रतिशत की कमाई की है। इरेडा के स्टॉक ने इस साल सूचीबद्ध कंपनी में सबसे ज्यादा रिटर्न दिया है। विपक्ष को अब तक 230 प्रतिशत रिटर्न मिल चुका है। इस साल सबसे ज्यादा निराश करने वाली कंपनी आय रार्पा एनर्जी रही। इसका स्टॉक 8 फीसदी नीचे चल रहे हैं।

ये भी पढ़ें

विशेष सत्र: जनवरी में इस छुट्टी वाले दिन भी खुलागा शेयर बाजार, जानिए शनिवार को क्यों होगा विशेष सत्र!

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *