Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


वर्षांत 2023 शीर्ष पीएसयू स्टॉक: साल 2023 भारतीय शेयर बाजार के निवेशकों को टाटा ग्रुप, अडानी या रिलायस या बिरला ग्रुप के लिस्टेड यूनाइटेड किंगडम के शेयरों में सबसे ज्यादा कामकर पैसे नहीं दिए गए हैं। बल्कि 2023 में सरकारी क्षेत्र के शेयर बाजार की सबसे बड़ी मल्टीबैगर साबित हुई हैं। इग्नोर वो ऊर्जा सेक्टर के स्टॉक्स को या फिर डिफेंस या फिर सरकारी क्षेत्र के स्टॉक्स को।

मॅडर्स पी. असेट्स 74 प्रतिशत

सरकारी कंपनियों में तेजी का मेट्रिक्स इसी तरह लगाया जा सकता है कि 2022 के आखिरी ट्रेडिंग सत्र में कंपनियों के टुकड़ों में 4367 हिस्सेदारी पर स्टॉक हुआ था। जो 14 दिसंबर 2023 को 7548 पर लॉक हुआ है। 2023 में इस स्टॉकर में करीब 73 फीसदी का उछाल आया है. जबकि कोरोना काल के बाद से तीन साल में इस स्टॉक में 160 फीसदी का उछाल आया है.

पावर स्टॉक्स ने 185 से 280% का रिटर्न दिया

स्टॉक्स की बात करें तो एनर्जी एरिया की एआरसी (आरईसी) का स्टॉक सरकारी क्षेत्र के शेयरों में सबसे बड़ा मल्टीबैगर स्टॉक साबित हुआ है। आरईसी के स्टॉक में 2023 में 280 फीसदी का उछाल आया है। आरईसी के पैकेज पर ही पावर फाइनेंस कंपनी का स्टॉक भी देखने को मिला। इस स्टॉक ने 2023 में अपनी कमाई को 275 फीसदी का रिटर्न दिया है. हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर प्रोडक्शन करने वाली कंपनी एसजेवीएन (एसजेवीएन) का भी मल्टीबैगर स्टॉक साबित हुआ है और 2023 में शेयर ने 185 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। 2023 में इरेडा इकलौटी सरकारी कंपनी थी जो आई.डी.पी. लेकर आई. 29 नवंबर को शेयर स्टॉक रिव्यू लिस्टेड हुआ और 13 दिनों के अमेरिकन सेशन में शेयर ने अपने अनअथर्स को 275 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।

मल्टीबैगर डिफेंस स्टॉक्स

डिफेंस सेक्टर की कंपनी मॅजगांव डॉक का स्टॉक भी मल्टीबैगर स्टॉक साबित हुआ है। इस शेयर में 2023 में 162 फीसदी का उछाल आया है. जबकि डेजर्ट्स थ्री सीयर में इस शेयर ने करीब 10 गुना 970 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। एक और मल्टीबैगर डिफेंस स्टॉक एचएएल (एचएएल) ने भी अपने शेयरधारकों को रिटर्न दिया है। एचएएल के स्टॉक में विभाजन हुआ है। इसलिए इस स्टॉक पर 2773 रुपए का कारोबार हो रहा है। 30 दिसंबर को स्टॉक 2531 रुपए पर चढ़ा। और उन स्टॉक से 2023 में 120 फीसदी का रिटर्न मिला है।

पीएम मोदी ने दिया निवेश का गुरुमंत्र

अगस्त 2023 में विपक्ष में अविश्वास प्रस्ताव (नो-कॉन्फिडेंस मोशन) पर हंगामा हुआ नरेंद्र मोदी (नरेंद्र मोदी) ने शेयर बाजार के निवेशकों को निवेश का गुरु मंत्र दिया था। पीएम मोदी ने कहा कि जो लोग सरकारी एजेंसियों से जुड़कर अपने निवेश पर दांव लगाते हैं। मोदी के मंत्र के बाद सरकारी क्षेत्र की सोसायटी के स्टॉक में भी तेजी से देखने को मिल रहा है। शेयर बाजार के प्रॉफिट का फेल होना लंबे समय तक अंडरपरफॉर्म करने वाले सरकारी क्षेत्र के सरकारी क्षेत्र के शेयरों में शानदार तेजी से देखने को मिल सकता है।

ये भी पढ़ें

आईटी स्टॉक्स: फेड रिज़र्व के 2024 में राइटर राइटर के साइन ने भरा आईटी स्टॉक्स में जोश, संगीतकार आईटी के शेयर में 1100 पॉइंट की उछाल

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *