Breaking
Fri. May 24th, 2024

[ad_1]

सोना ख़रीदने के टिप्स: दीपावली के बाद देवउठनी एकादशी के साथ ही भारत में शादियाँ शुरू हो जाती हैं, जो कि अप्रैल तक बनी रहती हैं। एक अध्ययन के अनुसार, इस सीज़न में लगभग 40 लाख शादियाँ और थोक सोना बिकेगा। गोल्ड रिलेशन का एक अहम हिस्सा है. हम हिंदुस्तानी पूरी दुनिया में इस स्मारकीय धातु के प्रति अपने प्रेम के लिए जाते हैं। इसलिए, शादियां सोने के होने की कल्पना भी नहीं की जा सकती। अगर आप भी इस वेडिंग सीजन में सोने के आभूषणों का मन बना चुके हैं तो पूरी तैयारी के साथ बाजार में उतरेंगे ताकि आपको सबसे अच्छे रेट में शानदार सोने के आभूषण मिल जाएं।

सोने की शुध्दता कैसे होती है

सोने की आकाशगंगा को कैरेट में रखा जाता है। सबसे शुद्ध सोना 24 कैरेट होता है। हालाँकि, सोना एक धातु है। इसलिए 24 कैरेट गोल्ड का निर्माण नहीं किया जा सकता है। विनिर्माण में सबसे अधिक 22 कैरेट सोने का प्रयोग होता है। इसके अलावा लोग 20, 18 और 14 कैरेट गोल्ड का भी इस्तेमाल करते हैं। गोल्ड का रेट तय करने में सबसे प्रमुख भूमिका यह कैरेट ही है। आपके पास सबसे ज्यादा कैरेट की सोने की फैक्ट्री है, कीमत भी अलग-अलग है।

सोने की कीमत पर ध्यान देना बहुत जरूरी है

रविवार 3 दिसंबर को एक तोला (10 ग्राम) 24 कैरेट सोने की कीमत 63760 रुपये है। वहीं, 22 कैरेट की कीमत 58450 रुपए और 18 कैरेट की कीमत 47820 रुपए प्रति 10 ग्राम है। इसका सीधा सा मतलब यह है कि सिर्फ कैरेट बदलने से सोने की कीमत कितनी गिर जाती है। इसलिए आपको ध्यान देना चाहिए कि जिस दिन आभूषण खरीदे जा रहे हैं, उस दिन की कीमत कितनी है। सोने की कीमत में रोज रिलीज होती है, जो आपको भारी पड़ सकती है। साथ ही गौर करें कि 22 कैरेट के आभूषण में 24 कैरेट का रेट न देना पड़े।

ऐसे आउटस्टैंड की रेटिंग होती है

सिद्धांत का मूल्यांकन करने में कई कारक काम करते हैं। ज्वैलर्स के पहले विनिर्माण का वजन मापांक हैं। फिर उस पर सोने का रेट, मोनोक्रोम चार्ज और मेमोरियल आपको अंतिम मूल्य अंकित हैं। 3 फ़ीफ़ा फ़ार्म पर लगता है। यहां आपकी सावधानी काफी पैसा बचा सकती है। क्योंकि, हर ज्वैलर का रेजोल्यूशन अलग-अलग होता है। कहीं-कहीं लिया तो ऑफर के तहत बंधक शुल्क ही नहीं लिया जाता। हालाँकि, आपको कम से कम दो-तीन ज्वेलर्स से रेट लेकर अपना व्यवसाय कर लेना चाहिए।

इलेक्शन का फैंटेसी गेम, जीतें 10,000 तक के गैजेट्स 🏆
*नियम एवं शर्तें लागू
https://bit.ly/ekbabplbanhin

ये भी पढ़ें

डार्क पैटर्न: ई-कॉमर्स कंपनी पर प्रतिबंध, डार्क पैटर्न पर लगा बैन, जानिए कैसे अनाड़ी हो रहे थे आप

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *