Breaking
Sat. Feb 24th, 2024


आयकर अधिनियम: आयकर अधिनियम (इनकम टैक्स एक्ट) की धारा 80सी (80सी) में आपको कई तरह की छूट मिलती है। इसकी मदद से आप एक वित्त वर्ष में लगभग 1.5 लाख रुपये तक की छूट का लाभ उठा सकते हैं। इस धारा का लाभ केवल व्यक्तिगत गीतकार और एचयूएफ (हिन्दू अविभाजित परिवार) ही उठा सकते हैं। तो आइए समझते हैं कि आखिर यह धारा 80सी क्या है और आपको कैसे लाभ मिल सकता है।

पुराने टैक्स रिजीमधारकों को ही मिलेगा इसका लाभ

अगर आप पुराने टैक्स रिजीम (पुरानी टैक्स व्यवस्था) में अब तक हैं तो इसका फायदा आप उठा सकते हैं। हालाँकि, इसके लिए आपके पास कुछ सी-इलेक्ट्रॉनिक कार्य होंगे। इसमें एनएससी, यूलिप, पीपीएफ जैसे कई प्लेसमेंट मौजूद हैं। इससे आप अपना काफी टैक्स बचा सकते हैं। आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत मिलने वाले डिज़ाइक को कई स्थानों पर बुलाया गया है। जापानी जानकारी निम्नलिखित है।

अनुभाग 80सी

इसके तहत आप प्रोविडेंट फंड जैसे ईपीएफ और पीपीएफ में निवेश पर टैक्स छूट प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा लाइफ़्स रॉयल्टी प्रीमियम, वेल्थ लिंक्ड सेविंग स्कॉइक, होम लोन, सुकन्या समृद्धि योजना, एनएससी और एससीएसएस भी इसी श्रेणी में आते हैं।

धारा 80सीसी

इसके तहत आप पेंशन योजना और म्यूच्यूअल फंड में किए गए निवेश पर टैक्स से छूट ले सकते हैं।

खंड 80सीसीडी (1)

इसके तहत आपको नेशनल पेंशन सिस्टम और अटल पेंशन योजना के तहत निवेश पर टैक्स में छूट मिलती है।

सेक्शन 80 सीसीडी (1बी)

एनपीएस में इस धारा के तहत 50 हजार रुपये तक के योगदान से छूट दी गई है।

सेक्शन 80 सीसीडी (2)

एनपीएस नियोक्ता प्रदाताओं का हिस्सा इस धारा के तहत छूट का उल्लेख है।

अब हम आपको कुछ ऐसी वैकल्पिक जानकारी दे रहे हैं, जिसमें निवेश कर आप टैक्स छूट का लाभ ले सकते हैं।

जीवन अवधि प्रीमियम

लाइफ़ डॉक्यूमेंट्री सिक्योरिटीज़ के लिए आपको प्रीमियम टैक्स में फ़ायदा मिलेगा। इसमें आप अपनी, पत्नी, बच्चों के लिए लाइसेंस ले सकते हैं। हिंदू अविभाजित परिवार (एचयूएफ) के सदस्य भी ऐसे ही लाभ के पात्र हैं।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड

पीआईएफ में जाने वाले ने धारा 80 सी के तहत कोई भी योगदान नहीं दिया है। इसमें आप ज्यादातर 1.5 लाख रुपये जमा कर सकते हैं.

नाबार्ड रूरल बांड

नाबार्ड के रूरल बॉन्ड में अगर आपने पैसा लगाया है तो टैक्स में भी राहत मिलती है।

यूनिट लिंक्ड पोर्टफोलियो

यूलिप प्लान आपको लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न दिलाते हैं। इसमें 1.5 लाख रुपये प्रति शेयर टैक्स छूट मिल सकती है।

नेशनल सेविंग्स दुकान

एनएससी को कम जोखिम वाली परिभाषा में जाना जाता है। इसकी मैच्योरिटी 5 से 10 साल में हो जाती है। इसमें आप कितना भी पैसा लगा सकते हैं। मगर, सिर्फ 1.5 लाख रुपये पर छूट.

टैक्स सेविंग एफडी

वैसे किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस से खरीदारी की जा सकती है। इनका लॉक इन होम 5 साल का होता है.

ईएफ़एफ़

कर्मचारी प्रोविडेंट फंड रिटर्न पर कुल ब्याज सहित आपको कर छूट चुकानी पड़ती है। इसका लाभ आपकी नौकरी कम से कम 5 साल के लिए मिलना चाहिए।

अधिकारिता बांड

80सी के तहत प्रमाण पत्र बांड भी आपको कर छूट का लाभ दिलाते हैं।

ईएलएसएस

ईएलएसएस के तहत भी आपको टैक्स छूट मिलती है। हालाँकि, इन स्काई का लॉक इन होटल 3 साल का है।

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कॉच

एससीएसएस में 1.5 लाख रुपये तक की कमाई से आप टैक्स छूट का लाभ उठा सकते हैं। इसमें आपका 60 वर्ष से अधिक होना अनिवार्य है।

होमलोन

होम लोन के मालिक का भुगतान कर आप भी टैक्स में राहत ले सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना

बेटी के लिए पढ़ाई जा रही है इस स्कॉच पर आपको 8.2 प्रतिशत ब्याज मिलेगा। इस योजना के तहत टैक्स में भी राहत दी जाती है।

ये भी पढ़ें

ऊंची महंगाई दर: 21 फीसदी का मजबूत सितारा, टूट रही है इस देश के लोगों की कमर

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *