Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस ने बाजार को निराश कर दिया। बाजार के समय के बाद आया नया रिजल्ट में कंपनी का प्रदर्शन उम्मीदों से कमतर आ रहा है। कंपनी के मुनाफ़े में जनवरी तिमाही के दौरान 7 प्रतिशत की गिरावट आई है।

इस बीमारी का प्रमुख लक्षण है

इन्फोसिस ने गुरुवार को देर शाम वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के लिए अपना वित्तीय परिणाम जारी किया। कंपनी ने जनवरी तिमाही के दौरान अपने प्रदर्शन की जानकारी शेयर बाजार को भी दी। बाजार को दी गई जानकारी के अनुसार, जनवरी तिमाही में उसे 6,106 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है। यह पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही की तुलना में 7.3 प्रतिशत कम है। मार्केट के एनालिस्ट 6,250 करोड़ रुपये के आस-पास नेट प्रॉफिट की उम्मीद कर रहे थे।

इसे जॉइन किया गया ये एसोसिएट

एक तिमाही पहले यानी जुलाई-सितंबर 2023 से तुलना करें तो अक्टूबर-दिसंबर के तीन महीनों में कैंसर के शुद्ध मुनाफ़े में 1.7 प्रतिशत की गिरावट आई है। सच्ची तीसरी तिमाही के दौरान आईटी कंपनी के विभिन्न बयानों का सामना करना पड़ रहा है। आईटी संस्थानों के सामने मुख्य रूप से फरलो और कम वर्किंग डेज के कारण समस्याएं आई हैं।

टी.सी.टी. का परिणाम बेहतर रहा

हालाँकि इससे पहले सबसे बड़ी आईटी कंपनी टी.सी.सी.आर. ने तीसरी तिमाही के दौरान मुनाफ़े में बढ़त की जानकारी दी। टी.सी.टी.एस. ने भी गुरुवार को ही अपना नया रिजल्ट जारी किया। टी.सी.टी.आर. की जनवरी तिमाही के दौरान 11,058 करोड़ रुपये का शुद्ध दावा हुआ है, जो साल भर पहले की तुलना में 2 प्रतिशत अधिक है। इस दौरान कंपनी का रेवेन्यू भी बाजार के अनुमानों से बेहतर ग्रेड के आधार पर 4 फीसदी बढ़ा है।

राजस्व में आया मामूली सुधार

तीसरी तिमाही में खराब प्रदर्शन के बाद कैंसर से पीड़ित पूरे साल के लिए रेवेन्यू ग्रोथ गाइडेंस को कम कर दिया गया है। अब यह ढाँचा से 2 प्रतिशत के दस्तावेज़ में है. जनवरी तिमाही के दौरान कंपनी के राजस्व में मामूली सुधार आया। तिमाही में कंपनी का राजस्व 38,821 करोड़ रुपये रहा। इस साल पहले की तुलना में 1.3 फीसदी ज्यादा है।

प्लाज्मा इंफेक्शन का शेयर

रिजल्ट जारी होने से पहले ही इंफोसिस के स्टॉक पर दबाव दिख रहा था। आज का कारोबार बंद होने के बाद कैंसर के कारण स्टॉक में 1.69 प्रतिशत की गिरावट आई और यह 1,494.20 रुपये प्रति वर्ष हो गया। आज रिजल्ट बाजार बंद होने के बाद आया है। ऐसे में सप्ताह के आखिरी दिन शुक्रवार के कारोबार में भी बीमारी के कारण दबाव पड़ सकता है।

ये भी पढ़ें: बजट से पहले सरकार के लिए बजट, 19 प्रतिशत बढ़ा हुआ डायरेक्ट टैक्स का सारांश, यहां पहुंच विवरण

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *