Breaking
Sat. Feb 24th, 2024


शादी के खर्च की रिपोर्ट: एक तरफ देश में रेलवे का सीजन चल रहा है। और इस बीच शादी रचा रहे या फिर रचने की सोच रहे युवाओं को लेकर एक बेहद दिलचस्प सर्वे सामने आया है। माता-पिता या अभिभावक जहां अपने बच्चों की शादी और होने वाले खर्च को लेकर बेहद सजग रहते हैं। वे बच्चों की शादी के लिए बचत करना शुरू कर देते हैं। लेकिन आपको ये खास बात यह लगेगी कि आज के युवा या युवतियां अपने विवाह के खर्च के लिए अभिभावक पर प्रतिबंध नहीं लगाना चाहते हैं। एक सर्वे के मुताबिक 42 फीसदी युवा अपनी शादी पर होने वाले खर्च की खुद फंडिंग करना चाहते हैं।

युवा खुद उठाना चाहते हैं शादी का खर्च

इंडियालेंड्स (इंडियालेंड्स) ने वेडिंग स्पेंड्स रिपोर्ट 2.0 नाम से एक रिपोर्ट जारी की है। इंडियालैंड्स ने अपने अध्ययन में पाया कि आज के युवा अपनी शादी की फंडिंग खुद करना चाहते हैं और अपने माता-पिता पर शादी में होने वाले खर्च का भार नहीं उठाना चाहते। जिन बच्चों के बीच सर्वे किया गया तो ये 42 फीसदी अपनी शादी की फंडिंग खुद करना चाहते हैं।

60% महिलाएं खुद को फॉलो करना चाहती हैं

माता-पिता अपनी बेटी की शादी के खर्च को लेकर सबसे ज्यादा परेशान रहते हैं। लेकिन सर्वे में एक हैरान करने वाली बात सामने आई है. सर्वेक्षण के अनुसार 60 प्रतिशत महिलाएं अपनी शादी में होने वाले खर्च की फंडिंग खुद करना चाहती हैं जबकि पुरुषों की संख्या केवल 52 प्रतिशत है। जिन युवाओं के बीच सर्वे किया गया उनमें से 58.8 प्रतिशत बेहद शादियां और इंटरैक्टिव समारोहों वाली शादी करना चाहते हैं। इससे स्पष्ट है कि आज के युवा तामझाम, तड़क-भड़क वाले उत्सव की जगह पारंपरिक रूप से सादगी के तरीकों से शादी को सबसे ज्यादा तरजीह दे रहे हैं। जबकि 35.3 फीसदी युवा बड़े ही तामझाम, खूब खर्च कर फैंस के साथ शादी रचाना चाहते हैं।

विदेशी लोन के लिए 26.3% फंडिंग

आज के युवाओं की शादी में होने वाले खर्चे फंडिंग कैसे होगी? सर्वे में जब ये पता चला तो 42.1 प्रतिशत वर-वधु ने कहा कि वे अपनी बचत के जरिए शादी करना पसंद करेंगे। जबकि 26.3 प्रतिशत वर-वधू ने कहा कि वे शादी की फंडिंग के लिए लोन खरीद रहे हैं। जो लोग लोन लोन लेकर 67.7 प्रतिशत लोगों का कहना है कि वे 1-5 लाख रुपये तक लोन लेने की योजना बना रहे हैं। जबकि 27.7 प्रतिशत लोगों ने तय नहीं किया है कि वे फंडिंग कैसे करेंगे। जिन लोगों के बीच इस सर्वे में शामिल किया गया है उनमें 70 प्रतिशत लोगों की शादी का खर्च बजट 1 -10 लाख रुपये है। 21.6 प्रतिशत युवाओं का बजट 11.25 लाख रुपये के बीच है। जबकि 8.4 फीसदी युवा ऐसे हैं जिनका बजट 25 लाख रुपये से ज्यादा है। इंडियालेंड्स के संस्थापक और सीईओ गौरव चोपड़ा ने कहा, हम आज के युवाओं के आइडिया में बड़ा बदलाव देख रहे हैं। अपनी शादी की खुद की फंडिंग वित्तीय स्वतंत्रता के साथ सोच समझकर निर्णय लेने की ओर रुख कर रही है।

15-25 लाख रुपए औसत शादी पर खर्च

इंडियालैंड्स ने अक्टूबर से नवंबर के बीच 1200 लोगों के बीच यह सर्वेक्षण किया है। देश के 20 शहरों में 25 से 40 साल के बीच ये सर्वे किया गया है. जिसमें 34.1 प्रतिशत 25 से 28 वर्ष की आयु के, 29 से 35 वर्ष की आयु के 30 प्रतिशत लोग हैं। इसमें 65 प्रतिशत पुरुष और 35 प्रतिशत महिलाएं हैं। इस सर्वे में युवाओं की वित्तीय क्षमता और अंतिम दौर में युवाओं की प्रति सोच का पता लगाने की कोशिश की गई है। सर्वे के मुताबिक 50.4 फीसदी युवाओं ने कहा कि वे अरेंज मैरिज करना पसंद करेंगे तो 49.6 फीसदी लव मैरिज करना पसंद करेंगे। सर्वे के मुताबिक, प्रोटोटाइप आय 5 -10 लाख रुपये के बीच है और वे 7 -10 लाख रुपये से ज्यादा शादी पर खर्च नहीं करना चाहते। एक अध्ययन के अनुसार औसत भारतीय मध्यम वर्ग की शादी पर 15 – 25 लाख रुपये के बीच खर्च होता है।

ये भी पढ़ें

डेस्टिनेशन वेडिंग: डेस्टिनेशन वेडिंग का बढ़ा क्रेज, विदेश में नहीं इन जगहों पर शादी करना पसंद कर रहे लोग

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *