Breaking
Sat. May 18th, 2024

[ad_1]

<पी शैली="पाठ-संरेखण: औचित्य सिद्ध करें;"RBI अपडेट: आने वाले दिनों में जिस भी बैंक का नेट एनपीए 6 प्रतिशत से कम होगा केवल वही बैंक अपने अकाउंट को डिविडेंड देने की घोषणा कर सकते हैं। बैंकिंग सेक्टर के नियामक भारतीय रिजर्व बैंक ने लाभांश घोषित करने के लिए ड्रॉफ्ट गाइडलाइंस जारी की है, जिसमें यह प्रस्ताव दिया गया है। साल 2005 के नियमों के तहत पहले जिस बैंक का एनपीए 7 प्रतिशत से कम था वहीं डिविडेंड देने की घोषणा की जा सकती थी। 

आरबीआई ने डिविडेंड डिक्लेरेशन जारी करते हुए ड्राफ्ट गाइडलाइंस में कहा, जिस फाइनेंशियल ईयर के लिए डिविडेंड डिक्लेरेशन की घोषणा की जा रही है उसमें नेट एनपीए रेश्यो 6 फीसदी से कम होना चाहिए। आरबीआई ने बताया कि वित्तीय स्थिरता के लिए बेसल III मानक, पीसीए फ्रेमवर्क (प्रॉम्प्ट कोऑरेक्टिव एक्शन फ्रेमवर्क) में संशोधन और विशेष उद्देश्यों के लिए अलग-अलग बैंकों की शुरुआत में ध्यान केंद्रित किया गया है, जिसमें लाभांश से जुड़े शेयरधारकों की समीक्षा कर दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। . 

आरबीआई ने वित्त वर्ष 2024-25 से लागू करने का नया प्रस्ताव रखा है। इस प्रस्ताव पर स्टेकहोल्डर्स से 31 जनवरी, 2024 तक सलाह दी गई है। आरबीआई ने ड्रॉफ्ट गाइडलाइंस में डिविडेंड ऑफर के बारे में विचार करते हुए टाइम बैंक के बोर्ड को शामिल करने की बात कही है। 

डिविडेंड घोषित करने के पात्र बनने के लिए एक अंकित मूल्य वाले बैंक के पास न्यूनतम 11.5 प्रतिशत इक्विटी अनुपात का होना जरूरी है। जबकि लघु वित्त बैंक और पेट्रोलियम बैंक के मामले में यह अनुपात 15 प्रतिशत और स्थानीय क्षेत्रीय बैंकों और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के लिए 9 प्रतिशत निर्धारित किया गया है। 

आरबीआई ने डिविडेंड पेमेंट रेश्यो को ऊपरी सीमा पर 40 प्रतिशत से बढ़ाकर 50 प्रतिशत करने का भी प्रस्ताव दिया है। इस प्रस्ताव को स्थाई रूप से होटलों में देखा जा सकता है। विदेशी बैंकों के मामले में आरबीआई ने कहा है कि वे अपने पूर्व-अनुमती के स्वामित्व वाले भारतीय व्यवसाय से एक तिमाही या एक साल का शुद्ध लाभ या सरप्लस अपने देश में भेज सकते हैं। 

ये यह भी पढ़ें 

बजट 2024: नॉमिनेशन से पहले मोदी सरकार की ओर से पेंशनधारकों को 75,000 रुपये की रिजर्व डेट दी जा सकती है।

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *