Breaking
Fri. Jun 21st, 2024

[ad_1]

आवास पर मौद्रिक नीति का प्रभाव: भारतीय रिजर्व बैंक (भारतीय रिजर्व बैंक) ने शुक्रवार को अपनी मौद्रिक नीति (मौद्रिक नीति) की शुरुआत की है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (शक्तिकांत दास) ने रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। इस जजमेंट से लोन की आवासीय (लोन ईएमआई) न तो बेरोजगारी और न ही कमी आएगी। इस अमूर्त नीति से नैचुरल सेक्टर में खुशी की लहर है। ऐसा माना जा रहा है कि इससे आर्थिक मोर्चे पर स्थिरता बनी रहेगी, जो कि घर की दुकान और मांग पर अच्छा असर डालेगी। इस निर्णय का निष्कर्ष प्रभावशाली शेयर बाजार पर भी पोस्ट किया गया।

सेक्टर में भी खुशी की लहर

एनरॉक ग्रुप (एएनएआरओके ग्रुप) की स्थिर स्टैच्यू नीति के संस्थापक अनुज पुरी हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत स्थिति में है। हाल ही में जारी किये गए सिद्धांतों के आँकड़े भी इसके प्रमाण दिए गए हैं। अब रिजर्व बैंक ने भी रेपो रेटास्टिक स्थिरांक की पुष्टि कर दी है। यह आईएसओ की तरफ से घर के शेयरधारक के लिए जगह है। रिपेरो रेट में कोई बदलाव नहीं होने से बैंकों को समान विचारधारा पर लोन रहेगा। उन्होंने कहा कि घर की कीमत में भी दरार पड़ने की संभावना कम हो गई है।

टॉप-7 शहरों में तेजी से बढ़ते हैं दम

अनुज पुरी ने बताया कि नैचुरल मार्केट तेजी से बदल रहा है। पिछले कुछ महीनों में दिल्ली-मुम्बई समेत देश के सात बड़े शहरों में घरों की कीमतें 8 से 18 प्रतिशत तक बढ़ी हैं। इस प्रकार के खतरनाक इंजीनियर जा रहे हैं कि यदि कार्मिक प्रमाणन नीति में रेपो दर में वृद्धि का निर्णय लिया जाता है तो हितैषी इंजीनियर बढ़ने से लोग घर की खरीद से दूरी बनाते हैं। हालांकि, रिजर्व बैंक ने अगले कुछ दिनों में रियल एस्टेट सेक्टर को राहत देने की घोषणा की है।

हर जगह दिखने वाला प्रभावशाली

एनरॉक रिसर्च के मुताबिक, पिछले एक साल में सबसे ज्यादा प्रोडक्ट्स बेंगलुरु में हैं। यहां मकान मालिकों की कीमतें न्यूनतम 18 प्रतिशत तक हैं। अवलोकन देश के टॉप 7 शहरों में प्रति स्क्वायर फीट की कीमत 6800 रुपये हो गई, जो कि 2022 में 6105 रुपये थी। इसमें 7 फीसदी का उछाल आया है. पुरी ने कहा कि होम लोन की रुचि में कोई बदलाव नहीं होने से लेकर सेक्टर सेक्टर तक की शुरुआत तय हो गई है।

ये भी पढ़ें

RBI on UPI: आरबीआई ने हॉस्पिटल-शैक्षणिक छात्रों के लिए यूपीआई ट्रांजेक्शन की सीमा तय की, अब कर 5 लाख रुपये तक की बढ़ोतरी

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *