Breaking
Mon. May 20th, 2024

[ad_1]

इनकम टैक्स रिटर्न: आयकर विभाग को ऐसे कई करदाताओं की जानकारी मिली है जिसमें आयकर रिटर्न की जानकारी दी गई है और स्टॉकधारक पार्टी से ब्याज, लाभांश आय की जानकारी प्राप्त हुई है। ऐसे मामलों में ऐसे कई टैक्सपेयर्स हैं जिनका आयकर रिटर्न भुगतान नहीं किया गया है। आयकर विभाग ने ऐसे करदाताओं की पहचान की है। इस मिसमैक को दूर करने के लिए आयकर विभाग टैक्सपेयर्स को ई-फ़लिंग पोर्टल पर इसे ठीक करने का अवसर प्रदान कर रहा है। टैक्सपेयर्स को एसएमएस और ईमेल के जरिए मिसमैक की जानकारी दी जा रही है।

आयकर विभाग ने बताया कि वर्ष वित्त 2021-22 और 2022-23 के लिए टैक्सपेयर्स की ओर से बकाया आयकर रिटर्न में ब्याज और लाभांश आय को लेकर जानकारी उपलब्ध कराई गई है। आस्था पार्टी फर्मों और ब्रोकरेज हाउसेज से ब्याज और लाभांश आय के बारे में जो जानकारी मिली है वह टैक्सपियर्स के आईटीआर से मेल की अनुमति नहीं है। आयकर विभाग ने बताया कि ऐसे कई करदाताओं ने आयकर रिटर्न तक भुगतान नहीं किया है।

आयकर विभाग ने बताया कि इस मिसमैक को ओके करने के लिए ई-वेरीफिकेशन 2021 स्की को लॉन्च किया गया है। इन्कम टैक्स की ई-फ़ॉलिंग वेबसाइट https://eportal.incometax.gov.in में कॉम्पलॉयंस पोर्टल पर स्क्रीन सुविधा दी गई है ताकि इस मिसमैक को ठीक किया जा सके। आयकर विभाग ने बताया कि आयकर वर्ष वित्त वर्ष 2021-22 एवं 2022-23 के लिए मिसमैची से जुड़ी जानकारी कम्प्लायंस पोर्टल पर उपलब्ध है। टैक्सपेयर्स को एसएमएस और ईमेल पर इस मिसमैच के बारे में जानकारी दी जा रही है।

आयकर विभाग ने कहा है कि जो टैक्सपेयर्स ई-फालिंग वेबसाइट पर रजिस्टर नहीं हैं उन्हें रजिस्टर करना होगा। जो टैक्यपियर्स मिसमैच को ठीक करने में असमर्थ हैं, वे आयकर रिटर्न के माध्यम से आयकर की सही आय अर्जित कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें

पीएसयू स्टॉक्स: पीएससी यू स्टॉक की घटती चमक, क्यों इन मल्टीबैगर्स स्टॉक्स को होल्ड नहीं करना चाहते हैं बिजनेसमैन?

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *