Breaking
Fri. May 24th, 2024

[ad_1]

2023 में आईपीओ: इस सीक्वल 2023 को आईपीओ (IPO) के साल के हिसाब से याद किया जाएगा। इस साल ज्यादातर आई कंपनियों ने कंपनियों की जेबें भर लीं और कंपनियों को भी जोरदार पैसा दिया। पिछले साल के कंसल्टेंसी में इस साल सबसे ज्यादा आय हुई। हालांकि, आई लैब्स के बैचलर बिजनेस वाली जाने वाली नागालैंड कैडेट बेस पर मामूली सी कम कीमत 52,637 करोड़ रुपये रही।

सेबी के पास आ गए हैं 61000 करोड़ रुपए के ऑफर

बाजार नियामक सेबी 24 कंपनी को आई पीएलसी के लिए मंजूरी दे दी गई है। ये लगभग 26 हजार करोड़ रुपए की आई बिकेगी। प्राइम निवेशकों के मुताबिक, एनबीएसबी 32 कंपनी के करीब 35 हजार करोड़ रुपये के मुनाफे पर विचार चल रहा है। आंकड़ों के मुताबिक, इस साल 58 साल में 58 किसान अपनी आई कंपनियां ले आए और उन्होंने 52,637 करोड़ की कमाई की। पिछले साल 40 कंपनी ने आई सर्वे के जरिये 59,302 करोड़ रुपये की बिक्री की थी।

2024 में भी गुलजार रहेगा आई लिपस्टिक मार्केट

विशेषज्ञों की मानें तो इस साल आई पुलिस की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। उदाहरण के तौर पर मिले रिस्पॉन्स के लाइव 2024 में भी आई मार्केट मजबूत बने रहेंगे। जल्द से जल्द सेबी के पास जल्द से जल्द कई प्रस्ताव जमा मांगे जाएंगे। पिछले साल के एलआईसी आईडियाज़ को अगर हटा दिया जाए तो इस साल आई एलआईसी की भर्ती राशि 36 फीसदी ज्यादा है। एलआईसीटी ने 2022 में 20,557 करोड़ रुपये का आई पेट्रोलियम बाजार में उतारा था।

छोटे एवं मध्यम उद्यमों का बेहतरीन प्रदर्शन

इस साल छोटे एवं मध्यम उद्यमों ने बेहतर प्रदर्शन किया है। आई लैब्स के लिए लोगों की ओरिएंटेशन मिल रहे मुनाफ़ा और एग्रीगेट्स द्वारा अपने ईश्यू पार्टनर्स की सही कीमत निर्धारित की जा रही है। साल 2023 के दौरान 71 हजार की नई पाइपलाइन खरीदी। कंसल्टेंट के डेटाबेस मजबूत रहे, कंसल्टेंसी के डेटाबेस मजबूत रहे, कंसल्टेंसी के डेटाबेस मजबूत रहे। साथ ही राजनीतिक प्रकाशन पर आई स्टैबिलिटी ने भी सान्या का भरोसा बढ़ाया है।

2024 में कमाई के कई मौके

आनंद राठी एड शेयरहोल्डर्स के डायरेक्टर वी पैसिफिक राव का फेल है कि 2023 की तरह 2024 में भी आई सील मार्केट में रियाल रहेगा। इस साल कई नए रिकॉर्ड बन सकते हैं। उन्होंने इसे भारतीय शेयर बाजार के लिए स्वर्णिम वर्ष भी बताया। 2024 में एलएलसी बाजार में अच्छी तेजी बनी रहेगी। हमें पूरी उम्मीद है कि 2023 की तरह 2024 में भी अच्छे नतीजे मिलेंगे। राजनीतिक पत्रकारिता पर भी संकटमोचन ख़त्म हो गए हैं। इसके चलते साल के बावजूद शेयर बाजार में सबसे ज्यादा उठापटक नहीं हुई।

ये भी पढ़ें

जीवन के बारे में बिल गेट्स: माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने साझा किया अपने जीवन का अनुभव, सप्ताहांत या बढ़त में नहीं थे विश्वास

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *