Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


कॉरपोरेट जगत में मिले-जुले प्रतिभागियों को लेकर बड़ी कंपनियों के दिग्गजों के हजारों मामले सामने आए हैं। अभी एक ऐसा ही मामला चर्चा में है, जिसमें बटर बिस्किट को लेकर दो दिग्गज कंपनियों के बीच घमासान मचा हुआ है, जिसमें अब अंतत: सुप्रीम कोर्ट को विवाद सुल्ताने के लिए खास निर्देश दिए गए हैं।

इन प्रोडक्ट्स को लेकर विवाद

यह मामला है फ़्यूसीजी के दो दिग्गज उद्योग आईटीसी और ब्रिटानिया का। दोनों बिस्किट के बाजार में अच्छी-खासी चटनी हैं। ये विवाद भी बिस्किट को लेकर ही है. आईटीसी का उत्पाद है मॉम्स मैजिक और ब्रिटानिया का उत्पाद है गुड डे। ये दोनों ही बटर बिस्किट श्रेणी के उत्पाद हैं और ग्राहक ही दोनों एजेंसियों में तकरार चल रही है। प्रोडक्ट मॉम्स मैजिक बटर कुकीज की आकृति में उनके लोकप्रिय उत्पाद गुड डे बटरी कुकीज की आकृति की नकल है। इसे लेकर ब्रिटानिया ने इसके खिलाफ मुकदमा दायर किया। मद्रास उच्च न्यायालय ने मामले की सुनवाई करते हुए ब्रिटानिया के पक्ष में निर्णय लिया। हाई कोर्ट ने गुड डे की स्केचिंग के स्कैंडल को सनफीस्ट ब्रांड के तहत बेचने वाले मॉम्स मैजिक के रिव्यू पर रोक लगा दी।

ब्लू पर चल रहा विवाद

दरअसल गुड डे की ब्लू माउंटेन बाजार में काफी लोकप्रिय है। ब्लू रेस्तरां के साथ एक हद तक गुड डे ब्रांड की पहचान स्थापित हो गई है। आईटीसी ने भी ब्लू मार्केट में मॉम्स मैजिक को बाजार में पेश किया है। विवाद इसी तरह ब्लू स्क्रीनशॉट पर है. हाई कोर्ट ने आईटीसी को मॉम्स मैजिक के लिए ब्लू माउंटेन पर रोक लगाने का फैसला सुनाया, जिसे आईटीसी ने चुनौती दी थी।

अब जनवरी में होगी सुनवाई

इस मामले की सुनवाई की जा रही है सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस संजीव अविनाश की अगुआ की पीठ ने कहा कि दोनों के प्रीमियम उत्पाद हैं, जिनमें व्यापक स्तर पर कंज्यूम किया गया है। पृष्णि ने कहा कि अगर दोनों प्रोडूसर बातचीत में बातचीत कर मामले को सुलझा लें तो यह बेहतर है। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों बोर्डों को जनवरी की सुनवाई के बाद मामले पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया।

ये भी पढ़ें: टैक्स-फ्री नहीं है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड से हुई बढ़ी कमाई, सिर्फ इस सूरत में इनकम टैक्स से छूट है!

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *