Breaking
Fri. Jun 21st, 2024

[ad_1]

बिटकॉइन ईटीएफ निवेश: अमेरिकी रेगुलेटर ने ऐसे एक्सचेंज ट्रेडेड फंडों को मंजूरी दे दी है जो सीधे इक्विटी में निवेश करते हैं। अमेरिकी वित्तीय बाजार के लिए ये कदम बड़ा मील का पत्थर साबित हो सकता है। इसके माध्यम से बियाबा में सबसे अधिक व्यापार होने वाली मठ मठ की रीचज्यादा संगम तक का उद्घाटन किया गया है। वैज्ञानिक विशेषज्ञों के अनुसार यह निर्णय एक बड़े गेम बाजार के लिए साबित हो रहा है।

बड़े गेमचेंजर्स के लिए मार्केटप्लेस

अमेरिका के जापान के निवेश करने वाले शेयर बाजार (एसईसी) ने निवेश करने वाले शेयर बाजार को मंजूरी दे दी है। अमेरिकी रेगुलेटर एसईसी ने लगभग एक दशक तक ई-मिर्ज़ा को मंजूरी देने से इनकार कर दिया है। उनका मानना ​​था कि इकोनोमिक के बाजार में ई-मित्र जैसे निवेश माध्यम को आसानी से खरीदा जा सकता है और सामान्य निवेशकों के लिए ये रिस्क वाला उपकरण साबित हो सकता है।

उथल-पुथल के रिकॉर्ड में उथल-पुथल दर्ज की गई

रिसर्च के दाम देखें तो एक दिन में 1.77 फीसदी की अच्छी उछाल आंकी गई है. इसमें 46,615.31 डॉलर प्रति शेयर की दर देखी जा रही है। मार्च 2022 के बाद सिद्धार्थ के दाम इसी सप्ताह सबसे लेवल लेवल पर जा चुके हैं। इसके पीछे मुख्य कारण यही था कि इंकॉन्टिनेंट मार्केट में इसके ईटीएफ को मंजूरी मिलने की खबरें आ गई थीं।

सिद्धांत के दाम एक लाख डॉलर तक जाने की उम्मीद!

अमेरिका में वित्तीय निवेशकों के अनुसार ये कदम ना सिर्फ स्टॉक के लिए क्रांतिकारी बदलाव वाला साबित होगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि अब परमाणु ऊर्जा और इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों को दुनिया का सबसे विनाशकारी एक्सपोज़र मिलेगा। इसकी सीधी खरीदारी बिना ये मौका आम खरीददारी के भी मिल सकती है। स्टैंडर्ड चार्टर्ड एनालिस्ट्स के मुताबिक अकेले ई-टिकट्स में ही इस साल 50 करोड़ रुपये लेकर 100 करोड़ रुपये तक का निवेश आ सकता है। इसके आधार पर असिस्टेंस के दाम एक लाख डॉलर तक भी जा सकते हैं।

ये भी पढ़ें

लक्षद्वीप और अयोध्या जाना बेहद आसान होगा, इस बजटीय हवाई जहाज की उड़ानें जल्द शुरू होंगी, सीईओ ने की घोषणा

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *