Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


अदानी स्टॉक्स मार्केट कैप: साल 2023 दिसंबर में अरबपति गौतम अडानी का अडानी ग्रुप में उसी तेजी के दौर में वापसी हुई, जिसमें पिछले साल यानी 2022 के आखिरी महीने में थी। अडानी ग्रुप के स्टॉक में 20 प्रतिशत तक की बढ़त दर्ज की गई और ग्रुप का मार्केट कैपिटल 13.8 लाख करोड़ रुपये हो गया। अडाणी ग्रुप स्टॉक ने सुबह-सुबह अपना मार्केट कैपिटल शेयर बाजार (एम-कैप) खोला, जिसमें 90,000 करोड़ रुपये से अधिक की हिस्सेदारी थी। आज कारोबार खत्म हो रहा है अडानी ग्रुप का एम-कैप 13 लाख करोड़ रुपये के पार का अंतर अब 14 लाख करोड़ रुपये की तरफ बढ़ रहा है।

अदानी समूह के लिए परीक्षण खबर क्या रही जिससे बंपर उछाल मिला

ब्लूमबर्ग के खिलाफ रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिकन एजेंसी ने गौतम अडानी के नेतृत्व वाले पावर-टू-पोर्ट ग्रुप के हिंडनबर्ग फार्मास्यूटिकल्स द्वारा दिए गए प्लांट को सौदा नहीं मिला। एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है कि अडानी के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले में हिंडनबर्ग रिसर्च के दावे को लेकर अमेरिकी सरकार ने अडानी ग्रुप को क्लीन चिट दे दी है।

इस अधिकारी ने कहा कि यूएस नेशनल अथॉरिटी के इस नतीजे पर अमेरिका के शॉर्ट-सेलर हिंडनबर्ग के गौतम अडानी के खिलाफ लगाए गए आरोप सही नहीं थे। रिस्ट्रिन्ट इंपोर्ट प्रोजेक्ट के लिए अडानी ग्रुप को लोन देने से पहले ही अमेरिका ने हिंडनबर्ग के सौदे की जांच की थी।

अडानी ग्रुप का अमेरिका से मिला था बड़ा कर्ज

अमेरिकी सरकार ने अडानी ग्रुप को 553 मिलियन डॉलर तक का कर्ज़ दिया था। श्रीलंका की राजधानी कोलोराडो में एक पोर्ट प्रोजेक्ट प्रोजेक्ट अडानी पोर्ट्स एंड एसईज़ेड के नेतृत्व में चल रहा है और इसी तरह के लिए ये ऋण यूएस रजिस्ट्रेशन दिया गया था। अडानी ग्रुप को 553 मिलियन डॉलर का कर्ज देने से पहले यूएस इंटरनेशनल फाइनेंसियल कॉरपोरेशन (डीएफसी) ने जांच की थी। डीएफसी इस बात से सहमत है कि हिंडनबर्ग का दावा अडानी पोर्ट्स और स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड पर लागू नहीं होता है। यूनाइटेड स्टेट्स इंटरनेशनल फाइनेंसियल फाइनेंस कॉर्पोरेशन एक लिमिटेड फाइनेंस इंस्टीट्यूट और यूनाइटेड स्टेट्स इंटरनेशनल फाइनेंसियल फाइनेंस कॉर्पोरेशन की एजेंसी है।

जनवरी 2023 में हिंडनबर्ग रिसर्च केस से अडानी ग्रुप को लगी थी रियासत

इसी साल 24 जनवरी 2023 की शाम अमेरिका के शॉर्ट सेलर हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट आई थी जिसमें अडानी ग्रुप और गौतम अडानी पर गंभीर आरोप लगाए गए थे। उस रिपोर्ट में अडानी ग्रुप पर स्टॉक स्टॉक एक्सचेंज और अन्य गलत कारोबार का आरोप लगाया गया था। रिपोर्ट के आते ही अदानी ग्रुप के बादशाह की तस्वीर ही कमजोर दिखने लगी। रिपोर्ट के आने से लेकर मार्च 2023 तक अडानी स्टॉक्स में स्थिर गिरावट देखी जा रही है। नतीजा यह हुआ कि अडानी ग्रुप के ऑनलाइन मार्केटप्लेस में लगभग 100 डॉलर की भारी भरकम गिरावट दर्ज की गई।

गौतम अडानी की नेटवर्थ में भी जबरदस्त गिरावट थी संभली स्थिति

हिंडनबर्ग रिसर्च रिपोर्ट में कहा गया है कि अडानी ग्रुप के स्टॉक और ग्रुप के मालिक गौतम अडानी की नेटवर्थ कंपनी का शेयरधारक था। साल 2023 की शुरुआत में गौतम अडानी की नेटवर्थ 150 डॉलर पर थी लेकिन हिंडनबर्ग मामले के बाद गौतम अडानी और ग्रुप की नेटवर्थ में हिस्सेदारी भी कम हो गई। हालांकि अब अडानी ग्रुप स्टॉक्स में जारी तेजी के दम पर गौतम अडानी की संपत्ति फिर से 70 अरब डॉलर के पार पहुंच गई है। ब्लूमबर्ग एयरलाइंस के शेयरधारकों की कल आई रिपोर्ट के अनुसार, गौतम अडानी ने सोमवार को अपनी संपत्ति में 4.41 डॉलर डॉलर जोड़े थे। 61 साल के गौतम अडानी अब दुनिया के 16वें सबसे अमीर शख्स हैं, जबकि कुछ दिन पहले वह अरबपतियों की सूची में 22वें स्थान पर थे। अब वह अमेरिकी बिलेनियर्स रॉब और एलिस वाल्टन, जूलिया फ्लेशर कोच एंड फैमिली और माइकल डेल से सबसे ज्यादा अमीर हैं।

आज मार्केट कैप के अकाउंट से अडानी स्टॉक्स की तस्वीर ऐसी रही

अमेरिका से आई खबर का असर अडानी स्टॉक्स पर ऐसा दिखा कि ग्रुप स्टॉक में ग्रुप आई और ये बाजार में चल रही है शेयर बाजार में तेजी के साथ बिल्कुल स्टेपल शेयर करते हैं। किसी भी एक दिन में अडानी स्टॉक्स के मार्केट कैप में सर्वोच्च शेयरधारक और कंपनी को 1.4 लाख करोड़ रुपये से अधिक का लाभ हुआ है। अडानी ग्रुप की फ्लैगशिप अडानी इंटरप्राइजेज की मार्केट कैप एक बार फिर 3 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गई है।

बाजार पूंजीकरण के खाते से ये अडानी साहूकार टॉप गेनर जुड़े हुए हैं

अडानी इंटरप्राइजेज का मार्केट कैप स्काई पर

अडानी इंटरप्राइजेज का मार्केट कैप 3.41 ट्रिलियन या 3.41 लाख करोड़ रुपये हो गया है। स्टॉक 52-हफ्तों के महल स्तर से 174 प्रतिशत लिया गया था, जो इस साल की शुरुआत में छू गया। शेयर में सिर्फ एक दिन में 457.50 रुपये का नुकसान हुआ क्योंकि सुबह 2531.20 रुपये पर शेयर के बाद 2999 रुपये तक पहुंच गया। अडानी इंटरप्राइजेज एनएसई पर 439.80 रुपये या 17.38 फीसदी की बढ़त के साथ 2971 रुपये पर बंद हुआ।

अदानी पोर्ट्स एंड स्पेशल स्पेशल जोन लिमिटेड का एम.के.पी

अडानी पोर्ट्स एंड एसईज़ेड का मार्केट कैप 2.21 ट्रिलियन या 2.21 लाख करोड़ रुपये है। अडानी पोर्ट्स का शेयर एनएसई पर 131.35 रुपये यानि 14.95 फीसदी प्रति शेयर 1010 रुपये पर बंद हुआ। सुबह अदानी पोर्ट्स और एसईजेड 884 रुपये खुले और इसमें 131.35 रुपये प्रति शेयर का जीन केवल एक दिन (5 दिसंबर 2023) में आया।

अदानी ग्रीन ऊर्जा लिमिटेड का ट्रैक्टर बाजार

अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड की मार्केट कैप 2.14 ट्रिलियन यानी 2.14 लाख करोड़ रुपये है। सुबह शेयर 1126 रुपये प्रति शेयर खुला और 224.75 रुपये प्रति शेयर इनवेस्टर्स को शेयर किया गया। 20 प्रतिशत उछाल के साथ अडानी ग्रीन एनर्जी 1348.50 पर बंद हुआ। शेयर 1348.50 रुपये के हाई लेवल इंट्राडे तक ही पहुंच पाया था.

अदानी टोटल गैस लिमिटेड का बाजार पूंजीकरण

अदानी टोटल गैस लिमिटेड का मार्केट कैप 966.40 रुपये पर आ गया है। शेयर 146.45 रुपये या 20 फीसदी उछाल के साथ 878.70 रुपये प्रति शेयर बंद हुआ है। सुबह का शेयर 732.30 रुपए प्रति शेयर खुला था।

अडानी ग्रुप के स्टॉक में तेजी की एक और बड़ी वजह

हिंदी हार्टलैंड के तीन राज्यों में बीजेपी की शानदार जीत के बाद शेयर बाजार में तेजी आई क्योंकि बाजार में निवेश भावना में तेजी आई। हालाँकि तुरंत ही ये चर्चा जोर-शोर से लगी कि सरकार द्वारा नियुक्त अडानी ग्रुप को भी अब आगे बड़े पैमाने पर फ़ायदे की बैठक की उम्मीद है। इसके अलावा अडानी ग्रुप ने हाल ही में अपने ग्रुप ग्रुप के लिए पूंजी विस्तार की योजना का खुलासा किया है। अडानी ग्रुप हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के प्रभाव सामने आए हैं, ऐसा माना जा रहा है। इन सब सेवेस्टर्स को भरोसा मिला हुआ है और अडानी स्टॉक में जबरदस्त पैसा लग रहा है। अमेरिकी सरकार के अडानी ग्रुप को क्लीन चिट दें और हिंडनबर्ग रिसर्च के ऑफर से बाहर आने का फायदा तुरंत अडानी ग्रुप स्टॉक्स को मिला और ये बंपर उछाल पर रहे।

इंट्राडे में कैसा था अडानी स्टॉक्स का प्रदर्शन

पूरे दिन के बिजनेस के दौरान अडानी एनर्जी के शेयर में 20 फीसदी, अडानी एनर्जी सॉल्यूशंस में 16.38 फीसदी, अडानी टोटल गैस में 15.81 फीसदी, अडानी एनर्जी के शेयर में 10.90 फीसदी का उछाल देखा गया। इंट्राडे में अडानी पोर्ट्स और स्पेशल ग्लोबल जोन के शेयर 9.47 फीसदी, डीएनडीटीवी के 8.49 फीसदी, अडानी विल्मर के 7.71 फीसदी, अडानी पावर के 6.68 फीसदी, अंबुजा डिमांड्स के 6.17 फीसदी और एसीसी के 5.65 फीसदी चढ़े थे।

ये भी पढ़ें

सेवाएँ पीएमआई: सेवा क्षेत्र के विकास की हिस्सेदारी में आबंटन, पीएमआई एक साल के लिए आधार स्तर पर आई

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *