Breaking
Tue. Apr 23rd, 2024

[ad_1]

भारत में हाइड्रोजन उत्पादन: भारत सरकार ने देश में इलेक्ट्रोलाइट्स उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए इलेक्ट्रोलाइट्स उत्पादों को बढ़ावा देने का निर्णय लिया है। इसके लिए हाल ही में 1.5 गीगावाट क्षमता वाले प्लांट के लिए बोलियों को आमंत्रित किया गया था। इस योजना को लेकर साहसपूर्ण उत्साह देखा गया है। जानकारी के अनुसार, इस प्लांट के लिए 21 कंपनी ने बोली लगाई है। दिलचस्प बात ये है कि अंबानी और अडानी ने भी बोली है. इसे देखते हुए अब देखिए दिलचस्प रहेगा कि देश के दिग्गज लैपटॉप के इस डिलिवरी में मौजूद होने के बाद यह प्लांट किसको मिलता है।

मूल ग्रीन मिशन के लिए 19744 करोड़ रुपए दिए गए थे

प्लांट के लिए रिलाइक्स इलेक्ट्रोलायजर, अदानी न्यू इंडस्ट्रीज, एलएंडटी इलेक्ट्रोलायजर और भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स जैसे दिग्गज इंडस्ट्रीज इस दौड़ में शामिल हुए हैं। भारतीय ऊर्जा निगम (SECI) इस प्लांट के लिए 7 जुलाई को बोलियों को आमंत्रित करेगा। इस प्लांट के लिए सरकार ने प्रोडक्शन ग्रांट लिंक लॉन्च किया है। सरकार ने जनवरी, 2023 में नेशनल ग्रीन इंडिपेंडेंट मिशन के लिए 19744 करोड़ रुपये दिए थे। इस पैसे का उपयोग स्वच्छ ऊर्जा के उत्पादन में किया जाता है।

सीसीआई ने बोलियां आमंत्रित की थी

रिलायंस इंडस्ट्रीज और अदानी ग्रुप पहले भी कई बार सामने आ चुके हैं। स्वचालित उत्पादन में इलेक्ट्रोलैज़ार एक बहुत जरूरी चीज है। 10 जुलाई को सरकारी कंपनी एससी सीआई ने 4.5 लाख टन ग्रीन के अनौपचारिक उत्पादन के लिए प्लांट लगाने की बोलियां भी आमंत्रित कीं। यह बोलीं स्ट्रैटजिक इंटरवेंशन फॉर ग्रीन स्यूरी ट्रंजिशन स्कॉ (साइट) के तहत मंगाई गई थी। एसईसीआई के अनुसार, 21 कंपनी ने 1.5 गीगावाट की पेशकश से अधिकतम 3.4 गीगावाट उत्पादन के लिए बोली लगाई है।

इन ऑफिसों में भी खेले गए दांव

एसोसिएशन के अंतर्गत कंपनी-अडानी के शेयर हिल्ड इलेक्ट्रिक प्राइवेट, ओहामियम ऑरेशंस, जॉन कॉकरेल ग्रीनको सली सोल्युशंस, वेरी ऊर्जास, जिंदल इंडिया, अवाडा कोललैजर, ग्रीन एच2 नेटवर्क इंडिया, अद्वैत इंफ्राटेक, एसीएमई क्लेनटेक सोलूशंस, ओरियाना पावर, सैटेलाइट गैस एंड रिन्यूएबल्स, एचएचपी सेवन, होमी हाइड्रॉजन, चर्च, सी डॉक्टर एंड कंपनी, प्रतिष्ठा इंजीनियर्स और लिव्हाहाय एनर्जी ने अप्लाई किया है।

14 कंपनी ग्रीन ने विशेष उत्पादन के लिए अप्लाई किया

इसके अलावा 14 कंपनी ने 5.53 लाख टन साधारण हरित क्षमता के उत्पादन के लिए 4.5 लाख टन क्षमता का प्रस्ताव रखा है। इनमें टोरेंट पावर, रिलाएंस ग्रीन और भारत प्राइवेट लिमिटेड दिग्गज कंपनियों ने दावा किया है।

ये भी पढ़ें

रिलायंस का नया प्लान: आपके घर के करीब भी होगी अंबानी की दुकान, जानिए क्या है भारत के सबसे अमीर आदमी का प्लान

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *